पत्रकार से 10प्रतिशत घूस की मांग, संसदीय सचिव राय ने अधिकारी को लगायी जमकर फटकार


बलौदाबजार : भारत एक ऐसा देश हैं जंहा शासकीय कार्यालयों में बिना चढावा के कुछ भी काम हो पाना मानो असंभव हैं, एक ऐसा ही मामला निकलकर सामने आया है, जहां बलौदाबजार जिले के ग्राम पंचायत सरसींवा के रहने वाले हेमंत बंजारे ने रंजित सोनवानी के ऊपर घूस मांगने का आरोप लगाया हैं, दरसल हेमंत बंजारे का आरोप हैं की उन्होंने अपना मकान पोष्टमेट्रिक अनुसूचित जाती बालक छात्रावास के लिए पिछले 9 वर्षो से किराए पर दिया हैं, उनका कहना हैं की उनके मकान का किराया लगभग दो वर्षो से नही मिला हैं, जब हेमंत बंजारे को जानकारी मिली की मकान किराये के लिए अबंटन आया हैं,जिसके बाद हेमंत ने बिना देरी करते हुए आदिवासी विकास विभाग बलौदाबाजार जा कर जब जानकारी ली तो, उसी विभाग के एक कर्मचारी ने हेमंत को बताया की आप किराए के लिए रंजित सोनवानी से मिल लो, कर्मचारी की बात सुनकर जब हेमंत बंजारे रंजित सोनवानी से मिलने पहुंचा तो रंजित सोनवानी ने कहा की आपको किराए के पैसो का 10 प्रतिशत घूस देना पड़ेगा, हेमंत ने जब पूछा की सर घूस किस बात का तो रंजित सोनवानी ने कहा की आयुक्त साहब को देना पडेगा,इतना सुन हेमंत बंजारे ने आदिवासी विकास विभाग के आयुक्त और रंजित सोनवानी से बार बार मिन्नतें करते हुए कहा की सर कोरोना काल के कारण आर्थिक स्थिति ऐसी ही बिगड़ी हुई हैं, कर्ज लेकर घर चलाना पड़ रहा हैं, आप कृपया करके मेरा किराया दे देंवे, लेकिन हेमंत के बार बार गिडगिडाने के बावजूद भी उन्हें हेमंत पर थोड़ा सा भी तरस नही आया, जिसके बाद हेमंत वंहा से मायूस होकर अपने घर आ गया,हेमंत को कुछ समझ नही आ रहा था,की अब वो क्या करे, फिर उसने सोचा की क्यों न इस पुरे मामले को बिलाईगढ़ विधायक चन्द्रदेव राय को बताया जाए, हेमंत बंजारे ने पुरे मामले से संसदीय सचिव चंद्रदेव राय को अवगत कराते हुए अपनी आर्थिक स्थिति के बारे में विस्तार से बताया, हेमंत के बातो को सुनकर संसदीय सचिव राय ने तुरंत सहायक आयुक्त को फोन लगाकर जमकर फटकार लगाया, राय के फटकार के बाद से विभाग में हड़कंप मचा हुआ हैं, आपको बता दें हेमंत बंजारे पेशे से एक पत्रकार हैं, बावजूद इसके पैसो की मांग की गई आप इसी से अंदाजा लगा सकते हैं की आमलोगों को किस परेशानियों से जूझना पड़ता होगा!

Visits: 30 Today: 1 Total: 119860

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *