उत्तरप्रदेश के मोहोम्मद मोदीन, रोजन अली और मोहर्रम अली साधू का भेष बना कर सारंगढ़ क्षेत्र में मांग रहे थे भिक्षा आधारकार्ड से खुली पोल।

मोहोम्मद मोदीन और मोहर्रम अली

सारंगढ़ के शासकीय अस्पताल में कल तीन बहरूपियो का ईलाज के दौरान उनके असली नाम और पते का पहचान किया गया, दरसल यह दोनों बहरूपिये नगर पालिका सहित ग्रामीण क्षेत्रो में घूम घूम कर भिक्षा मांगते है, वही जब दोनों बहरूपियो की तबियत खराब हुई और दोनों सारंगढ़ के शासकीय अस्पताल ईलाज के लिए पहुंचे तो वंहा मौजूद डॉक्टर ने दोनों को आधारकार्ड दिखाने के लिए कहा तो दोनों बहरूपियो ने झिझकते हए अपना आधारकार्ड दिखाया,आधारकार्ड देखते ही वंहा उपस्थित डाँक्टर के भी होश उड़ गए, क्यों की दोनों
बेहरुपियो ने अपने शरीर में भगवा कपड़ा धारण किया था, और दोनों किसी साधू से भी कम नहीं लग रहे थे, लेकिन आधारकार्ड में एक नाम मोहोम्मद मोदीन लिखा हुआ हैं तो दूसरा का नाम मोहर्रम अली और तीसरे का नाम रोजन अली है जो उत्तरप्रदेश के रहने वाले हैं, फिलहाल सारंगढ़ पुलिस को इन तीनो बहरूपियो के बारे में सूचना दे दी गई है

Visits: 1888 Today: 2 Total: 141997

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *