CMO और इंजीनियर से परेशान सारंगढ़ नगरवासी,बिना चढ़ावा के बात तक करना पसंद नही करते। अब हुई लिखित शिकायत।

आदिवासी होटल संचालक से 20 हजार रूपये की मांग, नही देने पर बंद कराया होटल!
सारंगढ़ नगर पालिका सीएमओ संजय सिंह और इंजिनियर पर बड़ा आरोप,
छुट्‌टी के दिन आदिवासी परिवार पर हुई कार्यवाही,ना तो नोटिस दिया और ना ही कोई पंचनामा बनाया
दर्जनो अवैध कब्जा पर कार्यवाही को छोड़ सिर्फ आदिवासी होटल वाले पर कार्यवाही?
राजनिति करने पर उतारू हो गये है नगर पालिका सीएमओ
कलेक्टर, एसडीएम, थाना सारंगढ़ में किया गया शिकायत,
होटल के चूल्हे और अन्य सामान पर किया गया तोड़फोड़
सारंगढ़,
सारंगढ़ नगर पालिका अर्न्तगत साप्ताहिक बाजार मे 25 वर्षो से आदिवासी परिवार के द्वारा संचालित होटल के द्वारा 20 हजार रूपये की डिमांड़ को पूरा नही कर पाना उसके लिये भारी पड़ गया। नगर पालिका सीएमओ संजय सिंह, उपयंत्री तारकेश्वर नायक और पालिका के कुछ कर्मचारी छुट्टी के दिन सुबह 8 बजे पल्टन होटल पहुंचकर ना सिर्फ होटल के चूल्हा मे तोड़-फोड़ प्रारंभ कर दिये बल्कि होटल को भी बंद करा दिये। अपने साथ बीती इस पूरे मामले की शिकायत कलेक्टर रायगढ़ और एसडीएम सारंगढ़ को करते हुए होटल संचालक ने आरोप लगाया है कि सीएमओ संजय सिंह ने उनसे 20 हजार रूपये की मांग की थी नही देने पर इस प्रकार का व्यवहार कर रहे है।
सारंगढ़ नगर पालिका के बिलासपुर रोड़ गौरव पथ के पास पल्टन होटल के नाम से लगभग 25 वर्षो से होटल संचालित होते आ रहा है जिसे वार्ड क्रमांक 12 के निवासी पल्टन सिदार ने शुरू किया था और उनकी मृत्यु होने के उपरांत उसका पुत्र नोहर सिंह सिदार (केरू) संचालित कर रहा है। इस संबंध में बताया जा रहा है कि होटल के बाहर चूल्हा बनाये जाने को लेकर सीएमओ को आपत्ति था। जबकि चूल्हा दुकान के परिसर मे ही बना था। आज तीसरे शनिवार को सुबह 9 बजे सीएमओ संजय सिंह, उपयंत्री तारकेश्वर नायक और नगर पालिका के कर्मचारी रोशन यादव और गोपाल यादव ने उक्त होटल पहुंचकर होटल मे बने चूल्हे बनाये जाने को लेकर आपत्ति किया जिस पर चर्चा हो ही रही थी कि तत्काल 20 हजार रूपये की मांग सीएमओ संजय सिंह और उपयंत्री तारकेश्वर नायक के द्वारा किया गया। किन्तु रकम देने मे असर्मथ होने का हवाला देने की बात कहने के बाद पल्टन होटल के चूल्हे को तोड़ने मे नगर पालिका सारंगढ़ के कर्मचारियो को सीएमओ संजय सिंह ने आदेशित किया और तत्काल चूल्हा को तोड़ दिया गया। वही होटल संचालक को धमकाते हुए होटल को भी बंद करा दिया गया। अपने साथ हुए इस बर्ताव की जानकारी अपने साथियो को देते हुए नोहरसिंह सिंदार ने कार्यवाही की मांग को लेकर एसडीएम सारंगढ़ नंदकुमार चौबे के शरण में पहुंचे और नगर पालिका के सीएमओ संजय सिंह और उपयंत्री तारकेश्वर नायक के द्वारा 20 हजार रूपये की मांग करने और नही देने पर होटल का चूल्हा तोड़ने की घटना की पूरी जानकारी प्रदान किया। नोहर सिंह सिदार ने एसडीएम सारंगढ़ को दिये शिकायत पत्र मे इस घटना का सिलसिलेवार उल्लेख करते हुए बताया कि उनको ना तो कोई नोटिस दिया गया और ना ही कोई चूल्हा हटाने संबंधी निर्देश दिया गया था सीधा सुबह आकर पैसे की मांग किया गया तथा पैसे देने मे असर्मथ होने पर कार्यवाही किया गया। प्रार्थी नोहरसिंह सिदार ने शिकायत पत्र को कलेक्टर रायगढ़ तथा थाना सारंगढ़ में भी प्रदान करते हुए न्याय की मांग किया है।
लंबे समय से पदस्थ सीएमओ संजय सिंह पर लगा फिर आरोप?
सारंगढ़ नगर पालिका में लगभग 30 माह से प्रभारी सीएमओ के पद पर पदस्थ मूलत: राजस्व निरीक्षक संजय कुमार सिंह पर फिर एक बार अवैध उगाही का आरोप लगा है। पूर्व मे भी उन पर दुकानदारो को प्रताड़ित करने और अवैध उगाही करने का आरोप लगा था। किन्तु वर्तमान मे आदिवासी परिवार को प्रताडित कर 20 हजार रूपये की मांग करने और नही देने पर चूल्हा तोड़कर होटल बंद करा देने का संगीन आरोप लगा है। वही आज छुट्टी का दिन तीसरा शनिवार होने के बाद बिना नोटिस दिये किया गया इस कार्यवाही से नगरवासियो मे आक्रोश का माहौल व्याप्त है। बताया जा रहा है कि लंबे समय से नगर पालिका मे पदस्थ होने के कारण से सीएमओ संजय सिंह अब लोगो के साथ राजनिति शुरू कर दिये है। वही एक सत्ताधारी दल के नेता का संरक्षण मिलने के कारण से सीएमओ मनमानी पर उतारू हो गये है।
डिपरापारा मे किया गया अवैध कब्जा पर कार्यवाही नही?
सारंगढ़ के वार्ड क्रमांक 13 डिपरापारा मे नवनिर्मित सड़क को अवैध रूप से कब्जा करते हुए स्थानीय रहवासी के द्वारा ना सिर्फ कब्जा कर लिया गया है बल्कि बगल के नीम के पेड़ को काटने की तैयारी भी कर लिया था किन्तु शिकायत होने के बाद भी सीएमओ संजय सिंह ने उक्त बेजा कब्जाधारी पर कोई कार्यवाही करना उचित नही समझा और नोटिस तक नही दिया। इसी प्रकार से गौरवपथ पर ही सैकड़ो फीट की जमीन पर फल दुकान लगाने वाले की बात हो या बात पोस्ट आफिस के पास के फर्नीचर दुकानदारो के द्वारा 15 फीट तक निकाले गये शेड़ और कब्जा पर कार्यवाही की हो इस सभी को सीएमओ संरक्षण प्रदान कर रहे है वही एक आदिवासी परिवार के होटल पर चूल्हा पर प्रशासनीक गाज गिराया गया है। 20 हजार रूपये की अवैध उगाही करने के लिये ना सिर्फ चूल्हा तोड़ा गया बल्कि उसके दुकान को भी बलात् बंद कराकर सीएमओ यहा पर भय बनाने की कोशिश कर रहा है।

शिकायत पत्र 1
शिकायत पत्र 2
Visits: 585 Today: 2 Total: 130234

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *